महात्मा जोतीराव फुले शेतकरी कर्ज मुक्ती योजना 2019

प्राकृतिक आपदा के कारण पिछले कुछ सालों में किसानों का भारी नुकसान होने के कारण बैंकों से लिया गया लोन चुकता कर नहीं पाए। महाराष्ट्र सरकार ने किसानों के लिए महात्मा जोतीराव फुले शेतकरी कर्ज मुक्ति योजना 2019  ( Mahatma Jotirao Phule Shetkari Loan Waiver Scheme ) 

घोषित की है।

महात्मा जोतिराव फुले शेतकरी कर्ज मुक्ति योजना 2019 के बारे में समय-समय पर महाराष्ट्र सरकार द्वारा किए जाने वाले बदलाव हम यहां पर अपडेट करेंगे। आपसे निवेदन है कि कर्ज मुक्ति योजना के बारे में होने वाले बदलाव आपको समय पर मिलने के लिए इस पेज को बुकमार्क करें।

1 एप्रिल 2015 से 31 मार्च 2019 के बीच में बैंकों से लिया ऋण न  चुकाने के कारण खरीफ के सीजन में बैंकों में किसानों को नया लोन नहीं दिया। लोन न मिलने के कारण किसान भाई खरीप के सीजन में खेती-बाड़ी अच्छी तरह से नहीं कर पाए।

इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री उद्धव जी ठाकरे ने किसानों के लिए महात्मा जोतीराव फुले शेतकरी कर्ज मुक्ति योजना 2019 घोषित की है।

Mahatma Jotirao Phule Shetkari Loan Waiver Scheme
www.dalitmovement.in

महात्मा जोतीराव फुले शेतकरी कर्जमुक्ती योजना

1. योजना में जिन किसानों ने 1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2019 के दौरान एक तथा 1 से अधिक बैंकों से 200000 तक कम अवधि के लिए गया फसल  बकाया ऋण सरकार चुकता करेगी।

2. योजना में फसल के लिए लिया गया कम अवधि का लोन सरकार द्वारा माफ किया जाएगा

3. ऊपर बताए गए कालावधी में कम अवधि का लोन ना चुकाने के कारण जिस लोन का दीर्घ अवधि में पुनर्गठन किया गया है। और उस पुनर्गठन का किस्त किसान द्वारा बैंकों को नहीं दिया गया। ऐसी दो लाख तक की किस्त भी इस योजना में माफ कर दी जाएगी

4. पुनर्गठन किया फसल का कर्ज उसके ब्याज के साथ जो 30 सितंबर  2019 जो पुनः बकाया कर्ज बन गया है उसको भी 200000 की सीमा तक इस योजना के तहत कर्जमाफी मिलेंगी।

5. पुनर्गठन किया हुआ कर्ज की राशि अगर दो लाख से ज्यादा है तो उसका इस योजना में समावेश नहीं होगा।

6. कर्ज मुक्ति की राशि सीधे के कर्ज खाते में सीधे ट्रांसफर कर दी जाएगी।

कर्जमुक्ती योजना के निकष

1.ऋण राहत प्रदान करते समय व्यक्तिगत किसान मानदंड पर ध्यान दिया जाएगा

2. योजना के लिए केवल राष्ट्रीयकृत बैंक, वाणिज्यिक बैंक, ग्रामीण बैंक और जिला केंद्रीय सहकारी बैंक ने विभिन्न कार्यकारी सेवाओं सहकारी समितियों को ऋण दिया है।केवल इन्हीं ऋण का समावेश कर्ज मुक्ति योजना में किया गया है

निम्नलिखित व्यक्ति योजना के लाभ के लिए पात्र नहीं होंगे

1. महाराष्ट्र राज्य के पूर्व मंत्री तथा मंत्री, पूर्व सांसद तथा सांसद, राज्य के विधानसभा, विधान परिषद के पूर्व सदस्य तथा सदस्य इस योजना में लाभार्थी नहीं होंगे

2. केंद्र और राज्य के सभी कर्मचारी इस योजना का लाभ नहीं ले सकेंगे। वर्ग 4 के कर्मचारी इस योजना में आवेदन कर सकते हैं।

3. सार्वजनिक उपक्रम में काम करने वाले अधिकारी कर्मचारी जिनका मासिक वेतन रुपए 25000 से ज्यादा हो 

4. खेती के अलावा अन्य व्यवसाय से जिनका इनकम हो और वह इनकम टैक्स भरते हो ऐसे लोग इस योजना में आवेदन नहीं कर सकते।

5. जिस किसी का पैशन रुपए 25000 से ज्यादा हो ऐसे लोग भी इस योजना का लाभ नहीं ले सकेंगे। पूर्व सैनिक इस योजना में शामिल हो सकते हैं

6. कृषि उत्पन्न बाज़ार समिति, सहकारी चीनी कारखाने, सहकारी सूती मिल, सिविल सहकारी बैंक, जिला केंद्रीय सहकारी बैंक और सहकारी दूध संघ के कर्मचारी और अधिकारी  मासिक वेतन रुपए 25000 से ज्यादा है ऐसे लोग इस योजना में शामिल नहीं हो सकते।

निगरानी समिति

योजना अच्छी तरह से प्रवर्तन हो इसलिए राज्य स्तर पर एक निगरानी समिति स्थापित की जाएगी। निगरानी समिति के प्रमुख राज्य के मुख्य सचिव होंगे।

समिति में वित्त विभाग, नियोजन विभाग, तथा सहकार विभाग के सचिव, और रिजर्व बैंक, नाबार्ड बैंक और राष्ट्रीय कृत बैंक के प्रतिनिधि का समावेश होगा।

योजना को लागू करते समय, विभाग द्वारा विभिन्न घटकों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे


महात्मा फुले कि किताबे

गुलामगिरी

शेतकऱ्यांचा आसूड

महात्मा फुले समग्र वाड्मय

First Indian Women Teacher: Savitribai Phule

शासन निर्णय

अधिक जानकारी के लिए महाराष्ट्र सरकार द्वारा महात्मा फुले शेतकरी कर्ज मुक्ति योजना का शासन निर्णय यहां से

महात्मा फुले कर्ज मुक्ती योजना

बकाया कर्ज पर ब्याज वसूल करने का शासन निर्णय

महात्मा फुले शेतकरी कर्ज माफी योजना

One Comment

  1. महाराष्ट्र किसान कर्ज माफी लिस्ट 2020 कब आएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *