अल नीनो

अल नीनो  प्रशांत महासागर के क्षेत्र में घटने वाली एक घटना है।

जो दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर स्थित इक्वेडोर और पेरू देशों के तकिया समुद्र जल में कुछ सालों के अंतराल पर घटित होती है।
समुद्र के जल के तापमान में बढ़ोतरी होती है।
अल नीनो

hindi.waterportal.org

समुद्री जल के तापमान में बढ़ोत्तरी, हवाओं की दिशा में बदलाव तथा कमजोर पड़ने की विशेष भूमिका निभाती है।

अल नीनो के प्रभाव से वर्षा के प्रमुख क्षेत्र बदल जाते हैं। परिणाम स्वरूप जिस क्षेत्र में कम बारिश होती है।

उसमें अधिक तथा के जिस क्षेत्र में अधिक बारिश होती है उस क्षेत्र में कम होने लगती है।

अल नीनो स्पेनिश भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है छोटा बच्चा।

इसकी शुरुआत साधारणतः क्रिसमस के आसपास होती है। प्रशांत महासागर के जल में तापमान में वृद्धि होती है।

प्रभाव के दौरान व्यापारिक हवाएं मध्य एवं पश्चिमी प्रशांत महासागर में शांत होती है।

सबसे गर्म जल को सतह  पर जमा होने में मदद मिलती है।

ठंड जल के जमाव से पैदा हुए पोषक तत्व को नीचे खिसकना पड़ता है।

मछलियां तथा अन्य जलीय कवक जिवो का नाश होता है को नाश होता है।

इसके कारण समुद्र पक्षियों को कम भोजन मिलता हैं। इसे ही अल नीनो प्रभाव कहते हैं।

यही मौसम में रुकावट डालने के लिए जिम्मेदार है।

Facebook Comments
error: Content is protected !!